खोज

बिहार लोकसभा चुनाव परिणाम 2024 लाइव: शुरुआती रुझानों में एनडीए की बढ़त

जून 4 विवेक शर्मा 0 टिप्पणि

बिहार लोकसभा चुनाव परिणाम 2024: शुरुआती रुझान

बिहार लोकसभा चुनाव 2024 के परिणाम का इंतजार हर कोई कर रहा था और अब आखिरकार शुरुआती रुझान सामने आ चुके हैं। इन रुझानों में एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) एक महत्वपूर्ण बढ़त बनाते हुए नजर आ रहा है। यह चुनाव सिर्फ बिहार के लिए ही नहीं, बल्कि राष्ट्रीय राजनीति के लिहाज से भी अत्यंत महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं।

बिहार की 40 लोकसभा सीटें: चुनाव का महत्त्व

बिहार में कुल 40 लोकसभा सीटें हैं, जो किसी भी पार्टी या गठबंधन के लिए केंद्र में सरकार बनाने में अहम भूमिका निभाती हैं। इसलिए, इस राज्य में किसकी जीत होती है, इसका असर राष्ट्रीय राजनीति पर पड़ना स्वाभाविक है। इस बार के चुनाव में एनडीए और इंडिया (इंडियन नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस) गठबंधन के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली है।

एनडीए और इंडिया गठबंधन की सीटें

इस बार के चुनाव में एनडीए, जिसमें भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी), जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू), लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी), और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (एचएएम) शामिल हैं, ने 17 सीटों पर चुनाव लड़ा। दूसरी तरफ इंडिया गठबंधन, जिसमें राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी), कांग्रेस (कांग्रेस), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई), कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सिस्ट) सीपीएम, कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (मार्क्सिस्ट-लेनिनिस्ट) सीपीआईएमएल, और अन्य पार्टियां शामिल हैं, ने 23 सीटों पर चुनाव लड़ा।

प्रमुख उम्मीदवार: संघर्ष का मैदान

इस बार के चुनाव में कई प्रमुख उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें से सबसे चर्चित पप्पू यादव (मधेपुरा), रोहिणी आचार्य (सारण), और गिरिराज सिंह (बेगूसराय) हैं। इन तीनों ही उम्मीदवारों की राजनीतिक पृष्ठभूमि और उनके क्षेत्र में उनकी पकड़ उन्हें खास बनाती है।

एग्जिट पोल्स: क्या कहा था पूर्वानुमान?

एग्जिट पोल्स के नतीजे विभिन्न चैनलों और एजेंसियों द्वारा जारी किए गए थे, जो अलग-अलग दृष्टिकोण पेश कर रहे थे। कुछ एग्जिट पोल्स ने एनडीए को 33 सीटें दी थीं, जबकि अन्य ने इसे एक नजदीकी मुकाबला बताया था। अब जबकि वास्तविक परिणाम सामने आ रहे हैं, ऐसा प्रतीत हो रहा है कि एनडीए कई सीटों पर अच्छी खासी बढ़त बनाए हुए है।

भविष्य की राजनीति पर प्रभाव

इस बार के चुनाव परिणामों का असर न केवल बिहार की राजनीति पर, बल्कि राष्ट्रीय राजनीति पर भी पड़ेगा। यदि एनडीए इन चुनावों में जीतती है, तो यह केंद्रीय सरकार बनाने में एक बड़ा सहारा साबित हो सकता है। वहीं दूसरी ओर, यदि इंडिया गठबंधन को जीत मिलती है, तो यह भी एक बड़ा राजनीतिक संदेश होगा।

कड़ी निगरानी: हर अपडेट पर नजर

इस चुनावी प्रक्रिया के दौरान हर अपडेट पर नजर बनी हुई है। विभिन्न समाचार चैनलों और एजेंसियों द्वारा लाइव अपडेट्स जारी किए जा रहे हैं, जिनसे जनता को लगातार जानकारी मिल रही है।

अंतिम परिणाम का इंतजार

इस समय सभी की निगाहें अंतिम परिणामों पर टिकी हुई हैं, जो यह तय करेंगे कि आने वाले समय में बिहार और देश की राजनीति किस दिशा में जा रही है।

चुनाव का यह दौर इतिहास में लंबे समय तक याद रखा जाएगा और इसके नतीजे निश्चित रूप से भविष्य की राजनीति को दिशा देंगे।

विवेक शर्मा

विवेक शर्मा (लेखक )

मैं एक अनुभवी पत्रकार हूं जो रोज़मर्रा के समाचारों पर लेखन करता हूं। मेरे लेख भारतीय दैनिक समाचारों पर गहन विश्लेषण प्रदान करते हैं। मैंने विभिन्न समाचार पत्र और ऑनलाइन प्लेटफार्म के लिए काम किया है। मेरा उद्देश्य पाठकों को सही और सटीक जानकारी प्रदान करना है।

अपनी टिप्पणी टाइप करें

आपका ई-मेल पता सुरक्षित है. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं (*)