खोज

डोनाल्ड ट्रंप को हश मनी ट्रायल में सभी आपराधिक आरोपों में दोषी पाया गया, 2024 अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से पहले

मई 31 विवेक शर्मा 0 टिप्पणि

डोनाल्ड ट्रंप का आरोपों में दोष सिद्ध

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, 77 वर्षीय, को मैनहटन की जूरी द्वारा उनके खिलाफ लगे सभी 34 आपराधिक आरोपों में दोषी ठहराया गया है। यह फैसला 31 मई 2024 को सुनाया गया, जो अमेरिकी इतिहास में पहली बार है कि किसी पूर्व राष्ट्रपति को आपराधिक मामले में दोषी पाया गया हो।

घटना 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से संबंधित है जहां ट्रंप पर आरोप है कि उन्होंने वयस्क फिल्म अभिनेत्री स्टॉर्मी डेनियल्स से उनके संबंधों को छिपाने के लिए हश मनी भुगतान किया। यह आरोप लगाया गया कि ट्रंप ने चुनावी वित्त कानूनों का उल्लंघन कर इस भुगतान को छुपाया।

न्यायालय की कार्यवाही और फैसला

न्यायालय की कार्यवाही और फैसला

मैनहटन की अदालत में हुए इस मुकदमे में ट्रंप के खिलाफ 34 आरोप लगाए गए थे, जिसमें उन्होंने व्यापारिक रिकॉर्ड्स को गलत तरीके से प्रस्तुत किया ताकि इस भुगतान को छुपाया जा सके। जूरी ने सभी आरोपों को सही पाया और ट्रंप को दोषी ठहराया।

यह फैसला 31 मई को सुनाया गया था, और इस फैसले के बाद ट्रंप ने इसे 'घृणित' करार दिया। उनका कहना है कि वास्तविक न्याय 5 नवंबर 2024 को राष्ट्रपति चुनाव के दौरान आएगा।

अमेरिकी राजनीति पर प्रभाव

अमेरिकी राजनीति पर प्रभाव

ट्रंप का यह दोष सिद्ध होना अमेरिकी राजनीति में एक बड़ा भूचाल ला सकता है। हालांकि इन दोषों के बावजूद ट्रंप अब भी 2024 के राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार हो सकते हैं।

संभावित सजा और इसके निहितार्थ

ट्रंप की सजा की तारीख 11 जुलाई 2024 तय की गई है, जिनमें दोष सिद्ध होने पर उन्हें जेल की सजा या परिवीक्षा दी जा सकती है।

इस फैसले और संभावित सजा का ट्रंप और उनके अमेरिका में समर्थन पर क्या प्रभाव पड़ेगा, यह देखा जाना बाकी है। लेकिन यह निश्चित है कि इस फैसले ने राष्ट्रपति चुनाव की राजनीति को गर्मा दिया है।

ट्रंप के समर्थकों का मानना है कि यह फैसला राजनीति प्रेरित है, जबकि उनके विरोधियों का कहना है कि यह न्याय की जीत है।

ट्रंप का बयान और चुनावी रणनीति

ट्रंप का बयान और चुनावी रणनीति

फैसले के बाद ट्रंप ने एक बयान जारी किया जिसमें उन्होंने इसे 'राजनीतिक उत्पीड़न' कहा। उन्होंने यह भी कहा कि असली न्याय 5 नवंबर 2024 को मिलेगा जब जनता अपने मताधिकार द्वारा फैसला करेगी।

2024 के राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप की रणनीति अब अमेरिकी जनता के समक्ष उनके खिलाफ लगे आरोपों और दोष सिद्ध होने के बावजूद समर्थन हासिल करने पर केंद्रित होगी।

आगे की राह

डोनाल्ड ट्रंप की दोष सिद्धि और राष्ट्रपति चुनाव के मध्य यह मामला अमेरिकी राजनीति में एक महत्वपूर्ण मुद्दा बना रहेगा।

यह देखना दिलचस्प होगा कि रिपब्लिकन पार्टी इस पूरी घटना का किस प्रकार सामना करेगी और ट्रंप की उम्मीदवारी पर क्या निर्णय लेगी।

अमेरिकी जनता का भी जनमत इस समय महत्वपूर्ण है, क्योंकि वह फैसला करेगी कि दोष सिद्धि के बावजूद ट्रंप को समर्थन देना चाहिए या नहीं।

अंततः यह तय करना जनता और न्यायिक प्रणाली का कार्य होगा कि ट्रंप के राजनीतिक करियर के साथ क्या होगा।

विवेक शर्मा

विवेक शर्मा (लेखक )

मैं एक अनुभवी पत्रकार हूं जो रोज़मर्रा के समाचारों पर लेखन करता हूं। मेरे लेख भारतीय दैनिक समाचारों पर गहन विश्लेषण प्रदान करते हैं। मैंने विभिन्न समाचार पत्र और ऑनलाइन प्लेटफार्म के लिए काम किया है। मेरा उद्देश्य पाठकों को सही और सटीक जानकारी प्रदान करना है।

अपनी टिप्पणी टाइप करें

आपका ई-मेल पता सुरक्षित है. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं (*)